web hosting in hindi
वेब होस्टिंग इन हिंदी

web hosting in hindi 2024 | वेब होस्टिंग क्या है और इसके प्रकार | जाने वेब होस्टिंग के बारे मे सभी जानकारी

author
0 minutes, 27 seconds Read

आज हम आज अपने इस आर्टिकल मे बताएगे web hosting in hindi वेब होस्टिंग एक ऐसी सेवा है जिसमें आप अपनी वेबसाइट या ऑनलाइन अनुप्रयोग को इंटरनेट पर उपलब्ध करने के लिए अपने वेबसाइट के फ़ाइलें और डेटाबेस को एक सर्वर पर ऑनलाइन रख सकते हैं। यह सर्वर नेटवर्क के माध्यम से जुड़ा होता है जिससे आपकी वेबसाइट एक यूज़र्स द्वारा एक्सेस किया जा सकता है।। वेब होस्टिंग सेवा (Web Hosting Service) के बिना अपनी साइट को ऑनलाइन चलाना लगभग नामुमकिन है। साइट के डोमेन name (Domain Name) को होस्टिंग सर्वर से जोड़ कर ही एक वेबसाइट ऑनलाइन देखने के लिए पूर्ण होती है। एक वेब होस्टिंग के भी विभिन्न प्रकार हैं जो आवश्यकता के अनुरूप हम बदल सकते है । चलो विस्तार से बात करते है web hosting in hindi mai।

इस आर्टिकल में हम वेब होस्टिंग का हिंदी मे अर्थ (Hindi Meaning of Web Hosting), वेब होस्टिंग के सभी प्रकार (Types of Web Hosting) और इससे जुड़ी सभी जरुरी जानकारी बता रहे हैं।

वेब होस्टिंग का अर्थ? (web hosting in hindi)

आइये सबसे पहले जान लेते है की होस्टिंग क्या है? वेब होस्टिंग का हिंदी में क्या मतलब होता है?

वेब होस्टिंग (Web Hosting) का तात्पर्य ऑनलाइन वेब सर्वर (Online Web Server) से है जो आपकी वेबसाइट की सभी जरुरी फाइल जैसे  इमेज, वीडियो, डेटाबेस, टेक्स्ट (Text) आदि को सुरक्षित करता है। इस प्रकार की सेवा को हम वेब होस्टिंग सेवा कहते हैं, और वेब होस्टिंग सेवा देने वाली कंपनी को होस्टिंग प्रदाता कंपनी (Web Hosting Provider) के नाम से जाना जाता है। वेब होस्टिंग सेवा तब से अस्तित्व में है जबसे वेबसाइट निर्माण शुरू हुआ है। यह अवश्य हुआ समय के साथ इसके रूप भी बदलते गए और निरंतर विकास होता गया।

होस्टिंग सेवा कंपनी द्वारा उनके वेब होस्टिंग सर्वर पर आपको कुछ भुगतान चुकाने के पश्चात एक ऑनलाइन स्पेस (Web Space) प्रदान कर दिया जाता है जहाँ आप अपनी वेबसाइट को ऑनलाइन होस्ट कर सकते हैं। आपकी साइट किस सर्वर तकनीक/भाषा (Java, ASP, PHP etc.) पर आधारित है और कौन से सॉफ्टवेयर (HTML, WordPress) पर बनी हुई है उसके हिसाब से ही आपको होस्टिंग सर्वर (Web Hosting Server) को लेना होता है ।

आगे इस आर्टिकल में हम जानते है वेब होस्टिंग सेवा कहाँ से ली जा सकती है? कौन सी वेब होस्टिंग(web hosting) सेवा आपके लिए उपयुक्त है? और वेब होस्टिंग के कितने प्रकार हैं।

वेब होस्टिंग कितने प्रकार की होती है?

वेब होस्टिंग उपभोक्ता की जरूरत की दृष्टि से काफी सारी प्रकार की हो सकती है, हर उपयोगकर्ता की जरूरतों के मुताबिक सर्वर का स्पेस और उसकी गति तथा उसकी तकनीक अलग-अलग हो सकती है। छोटे ब्लॉगर या 4-5 स्थाई पेज की वेबसाइट चलने के लिए सस्ती होस्टिंग ही पर्याप्त होती है और बड़ी वेबसाइट चलाने के लिए क्लाउड होस्टिंग या डेडिकेटेड सर्वर लेने की जरुरत पड़ती है । हम हर एक प्रकर की वेब होस्टिंग के बारे मे निचे बता रहे है।

  1. साझा होस्टिंग (Shared Hosting)

साझा होस्टिंग (share hosting) यह नए ब्लॉगरों और छोटे व्यापारियों के लिए सस्ती वेब होस्टिंग होती है, दुनिया की अधिकतर वेबसाइट शेयर होस्टिंग पर चल रही हैं। शेयर होस्टिंग न केवल सस्ती होती है वरन यह चलाने और वेबसाइट को लोड करने या अपडेट करने में काफी आसान होती है। जिसका कारण है cPanel नामक control panel, यह लगभग हर शेयर होस्टिंग प्लान के साथ मुफ्त मिलता है। जो लोग नए होते हैं और होस्टिंग सर्वर को चलाना नहीं जानते उनके लिए cPanel एक वेबसाइट को नियंत्रित करने का एक सरल माध्यम हो जाता है।

साझा होस्टिंग में सेवा प्रदाता कंपनीअपने सर्वर के स्पेस को बहुत से उपभोक्ताओं में शेयर कर देता है, जिससे एक ही सर्वर पर काफी सारे उपभोक्ता अपनी वेबसाइट चला सकते हैं। साझाकरण की वजह से होस्टिंग सस्ते मूल्य पर उपलब्ध हो जाती है, क्योंकि एक समय पर एक ही सर्वर से बहुत से यूजर अपनी वेबसाइट को चला पाते हैं।

  1. आभासी सर्वर होस्टिंग (Virtual Private Server)

VPS एक आभासी सर्वर होता है, इसकी फुल फॉर्म वर्चुअल प्राइवेट सर्वर होती है । एक ही मशीन पर कुछ उपभोक्ताओं को अलग होस्टिंग निर्धारित कर दि जाती हैं, जिनका इस्तेमाल वह अपनी एक या अधिक वेबसाइट चलाने के लिए कर सकते हैं। आपको इसमे अलग से RAM , स्टोरेज स्पेस और सॉफ्टवेयर स्क्रिप्ट्स को दिया जाता है जिनका इस्तेमाल आप अपनी साइट या ब्लॉग के लिए कर सकते हैं। आप जब चाहें अपने सर्वर को रीस्टार्ट, शट डाउन या उस पर कुछ नया सॉफ्टवेयर इनस्टॉल करने के लिए कर सकते हैं।

वीपीएस खासतौर पर ऐसे उपभोक्ताओं को लेने की सलाह दी जाती है जिनके पास एक अलग प्रकार की वेबसाइट हों जिन्हे कोई खास सॉफ्टवेयर या ऑपरेटिंग सिस्टम की जरुरत पड़ती है। यह शेयर होस्टिंग के मुकाबले महंगी भी होती है। यदि आप को शेयर होस्टिंग सर्वर से तेज़ गति चाहिए तो आप VPS सर्वर को चुन सकते हैं।

  1. वर्डप्रेस होस्टिंग (WordPress Hosting)

वर्डप्रेस दुनिया का सबसे प्रसिद्ध कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम है, जिस पर आप अपना ब्लॉग, वेबसाइट इत्त्यादि बना सकते हैं। वेब होस्टिंग सेवा कंपनी ने वर्डप्रेस के लिए विशेष होस्टिंग पैकेज सर्वर स्थापित किये हैं। इन विशेष सर्वर पर PHP,  SQL और अन्य जरुरी तकनीकों का उपयुक्त कर सकते है । यदि आप वर्डप्रेस पर आधारित वेबसाइट बनाना चाह रहे हैं तो यह सबसे उपयुक्त होस्टिंग का प्रकार होता है ।

वर्डप्रेस होस्टिंग से आपको सर्वर की सुरक्षा, स्पीड और नियमित अपडेट की चिंता से मुक्ति मिलती है। यह चलाने में यह बहुत आसान तो है ही साथ ही आपको किसी प्रकार की विशेष ट्रेनिंग की आवश्यकता भी नहीं पड़ती है । आज के समय में लगभग हर छोटी बड़ी होस्टिंग कंपनी वर्डप्रेस होस्टिंग प्लान देती है। आप कम दाम पर hostinger, Bluehost, GoDaddy या HostGator जैसे होस्टिंग सेवा कंपनी की होस्टिंग ले सकते हैं।

  1. डेडिकेटेड होस्टिंग (Dedicated Hosting)

डेडिकेटेड होस्टिंग आपकी वेबसाइट के लिए एक पूरा सर्वर होता है, उस पर उपलब्ध सभी संसाधन आपके उपयोग के लिए ही होते हैं। दूसरे ग्राहकों का इस पर कोई हस्तक्षेप नहीं होता है जिससे आपको अपनी वेबसाइट चलाने के लिए अच्छी स्पीड मिलती है। यह शेयर होस्टिंग के मुकाबले काफी ज्यादा महंगी पड़ती है परन्तु इसकी परफॉरमेंस लाजवाब होता है। आपकी वेबसाइट खुलने में बहुत काम समय लगाती है और अगर एक ही समय पर बहुत से विजिटर आपकी वेबसाइट पर आ जाएं तो भी कोई खास फर्क नहीं पड़ता है।

अगर आपकी वेबसाइट पर रोज़ाना हज़ारों विजिटर आते हों तभी डेडिकेटेड होस्टिंग को चुनना चाहिए। नहीं तो आपको कुछ हज़ार रूपये मासिक कीमत चुकाने का भार उठाना होगा । यदि आप एक साधारण वेबसाइट या ब्लॉग बनाना चाह रहे हैं तो बेहतर है की आप शेयर्ड होस्टिंग से ही शुरुआत करें। जो रकम आप डेडिकेटेड होस्टिंग के लिए 1 माह में चुकाएंगे उतने में शायद आपको पुरे वर्ष के लिए शेयर होस्टिंग मिल जाए।

यह लेख भी आप जरुर पढ़े: कंप्यूटर मेमोरी क्या है सभी जानकारी

वेब होस्टिंग FAQ

  1. वेब होस्टिंग क्या है?

वेब होस्टिंग एक सेवा है जिसमें आप अपनी वेबसाइट को इंटरनेट पर उपलब्ध करने के लिए अपनी फ़ाइलें और डेटाबेस को एक सर्वर पर संग्रहित करते हैं। यह सर्वर नेटवर्क के माध्यम से जुड़ा होता है ताकि लोग आपकी वेबसाइट तक पहुँच सकें।

  1. साझा होस्टिंग और वीपीएस में क्या अंतर है?

साझा होस्टिंग: इसमें कई वेबसाइटें एक ही सर्वर को साझा करती हैं, जिससे कम कीमत पर मिलता है। वीपीएस (Virtual Private Server) होस्टिंग: इसमें वेबसाइट को अपना अलग वर्चुअल सर्वर मिलता है, जिससे अधिक नियंत्रण और स्थिरता होती है, लेकिन कुछ महंगा होता है।

  1. डीडिकेटेड होस्टिंग क्या है?

डीडिकेटेड होस्टिंग में, एक पूरा सर्वर एक ही वेबसाइट के लिए समर्पित होता है। यह सबसे अधिक निजीकृत और स्थिर होस्टिंग विकल्प है, लेकिन इसका खर्च भी सबसे अधिक होता है।

  1. क्या होस्टिंग में बैंडविड्थ का मतलब है?

बैंडविड्थ वह डेटा है जो आपकी वेबसाइट के सर्वर से उपयोगकर्ताओं के डिवाइसों तक जाता है। जितना अधिक बैंडविड्थ होगा, उतनी ही अधिक उपयोगकर्ताएं आपकी वेबसाइट को एक समय में एक्सेस कर सकेंगी।

  1. क्या सीपैन एक्सिंफ़ोर्मेशन (SSL) के लिए होस्टिंग आवश्यक है?

हाँ, SSL सुरक्षित सॉकेट लेयर का संक्षेप है और यह आपकी वेबसाइट के डेटा को एक्सेस करने वाले उपयोगकर्ताओं के बीच एक एन्क्रिप्टेड और सुरक्षित तंत्र को सुनिश्चित करता है। SSL होस्टिंग के लिए आवश्यक है, खासकर यदि आप ऑनलाइन लेन-देन या सांदर्भिक जानकारी को सुरक्षित रूप से रखना चाहते हैं।

  1. कैसे होस्टिंग सेवा चुनें?

होस्टिंग सेवा चुनते समय ध्यान देने वाले कुछ मुख्य तत्वों में शामिल हैं:

स्थिरता: सेवा की स्थिरता और डाउनटाइम की स्थिति देखें।

बैंडविड्थ और स्टोरेज: आपकी आवश्यकतानुसार बैंडविड्थ और स्टोरेज का विचार करें।

समर्थन: सपोर्ट

आपको मेरी यह लेख web hosting in hindi कैसा लगा है यह लेख आपको जरुर पसंद आया होगा। मेरी हमेशा से यही कोशिश रही है की रीडर्स को वेब होस्टिंग के विषय में पूरी जानकारी दी जाये। यदि आपके मन में इस आर्टिकल को लेकर कोई भी दौब्ट्स हैं आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार करने की जरुरत है इसके लिए आप comments मे लिख सकते हैं।

कृपया इस पोस्ट को सोशल नेटवर्क जैसे कि Facebook, Twitter इत्यादि पर share कीजिये।

About Author

Similar Posts

Leave a Reply