Swiggy in Hindi

Swiggy in Hindi 2024 | Swiggy कंपनी की सभी सम्पूर्ण जानकारी | swiggy की शुरुआत किस तरहा से हुई

author
0 minutes, 22 seconds Read

swiggy क्या है  2023, swiggy की शुरुआत किस तरहा से हुई, swiggy in hindi

swiggy in hindi आज कल के टाइम मे किसी का बाहर का कुछ भी खाने का मन कर रहा है तो वो तुरंत अपने स्मार्टफोन से अपना पसंद का खाना ऑनलाइन आर्डर कर देता है और अपने घर या ऑफिस मे ही होटल के स्वाद के मजे लेता है.

आज ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी बिजनेस सभी शहरों में काफी तेजी से फेलता जा रहा है. और भी काफी कंपनी है मुख्यता zomato और swiggy नामी कंपनियां इस क्षेत्र में कार्यरत हैं, जो ऑनलाइन फ़ूड ऑर्डर को लोगों तक उनका मनपसंद खाना पहुँचाने में काम कर रही हैं. तो आज हम इस आर्टिकल मे बात कर रहे है swiggy कंपनी की इस आर्टिकल मे हम swiggy की शुरुआत कैसे हुई? swiggy ने कैसे सफलता को हासिल किया? इन सभी बारे में भी जानेंगे.

Swiggy क्या हैं?

swiggy किसी पहचान की मुहताज तो नहीं हैं, फिर भी हम संक्षिप्त में जानेंगे कि, आखिर swiggy क्या हैं? स्विग्गी भारत की सबसे बड़ी और सबसे अधिक मूल्यवान ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग कंपनी हैं. आज की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगो तक उनकी पसंद के खाने का ऑनलाइन आर्डर लेने और ऑर्डर किया गया खाना उन तक पहुँचाने के लिए Swiggy की स्थापना हुई है.

इसकी एक मोबाइल अप्प हैं. इसकी मदद से आप अपनी मन पसंद का खाना ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं. swiggy app के जरिए किया गया ऑर्डर swiggy कंपनी का डिलीवरी बॉय आपके द्वारा चुने गए रेस्टारेंट या होटल से लेकर आपके दिए गए पते पर कुछ ही टाइम में पहुंचा देता हैं.

swiggy के संस्थापक कौन है

swiggy की शुरुआत 3 दोस्तों ने मिलकर की हैं. जिनका नाम नंदन रेड्डी, हर्ष मजेटी और राहुल जैमिनी हैं. श्री हर्ष मजेटी और नंदन रेड्डी ने Birla Institute of Technology and Science(BITS), Pilani से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की हुई हैं. जबकि राहुल जैमानी ने IIT खड़गपुर से सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की शिक्षा की हुई हैं.

swiggy से पहले ये तीनों किसी बड़ी कंपनियों में बड़े पदों पर कार्य कर रहे थे. श्री हर्ष मजेटी लंदन में इन्वेस्टमेंट बैंकर के तौर पर कार्यरत थे. वहीं नंदन रेड्डी भी Idinsight और Intellecap जैसी बड़ी कंपनियों में काम कर चुके हैं. राहुल जैमिनी भी myntra मे ऑनलाइन फैशन ब्रांड में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर कार्य कर चुके हैं.

swiggy के लांच होने के बाद से ही श्रीहर्ष मजेटी सीईओ के तौर पर अपना कार्य कर रहे हैं. वहीं नंदन रेड्डी Operation Department के हेड है, जबकि राहुल जैमिनी Cheif Technical Officer के पद पर कार्य कर रहे हैं.

swiggy की शुरुआत कैसे हुई?

swiggy app को लांच करने से पहले श्रीहर्ष मजेटी और नंदन रेड्डी ने 2013 में एक लोजिस्टिक्स कंपनी की स्थापना की थी. पर अपने इस स्टार्टअप से इन दोनों को निराशा मिली. श्रीहर्ष और नंदन का यह स्टार्टअप सफल नहीं हो पाया था. और इसको एक साल के अंदर बंद करना पड़ा. इस स्टार्टअप की असफलता के पीछे दोनों का अनुभव या तकनीकी कमी हो सकती हैं. या फिर उसी समय दो कंपनी amazon और flipkart जैसी online shopping कंपनी आने से इन दोनों को स्टार्टअप बिज़नस में हार का सामना करना पड़ा हो.

यह लेख भी आप जरुर पढ़े: जोमेटो कंपनी की सभी सम्पूर्ण जानकारी

स्टार्टअप की असफलता के पीछे चाहे जो भी कारण रहा हो पर इन दोनों ने कुछ और बड़ा करने के इरादे से कमर कस ली. पहले स्टार्टअप में मिली असफलता से सीखते हुए इन दोनों ने तकनीकी कमी को पूरी करने के लिए अपने एक और दोस्त राहुल जैमानी को इसमे जोड़ा.

इन तीनों ने मिलकर अपना नए स्टार्टअप की शुरुआत करने से पहले जमीनी स्तर पर अच्छे से रिसर्च किया. अपने प्लान के मुताबिक बाजार का पूरा अध्यन किया. और काफी रिसर्च करने के बाद 2014 में इन तीनों ने ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी के नए कांसेप्ट के साथ ही swiggy app को लंच किया.

शुरुआत में 6 डिलीवरी बॉय, 25 रेस्टारेंट और swiggy app के जरिए बैंगलोर में अपने स्टार्टअप की शुरुआत की. swiggy के आने से रेस्टारेंट मालिकों को काफी फायदा होने लगा. वही लोगों को अपना पसंदीदा बाहर का खाना ऑफिस या घर में मिलने लगा, तो वहीं होटल या रेस्टारेंट को नए ग्राहक और अपने आसपास अच्छी खासी पहचान मिलने लगी जिससे रेस्टारेंट के मालिक काफी खुश थे.

swiggy का विस्तार कैसे हुआ

शुरुआत से ही swiggy ने बेहतर सर्विस और जल्द से जल्द खाना डिलीवरी करने को लेकर लोगों के भरोसे को जीत लिया था. जिस वजह से ही लोग swiggy के साथ जुड़ते गए. शुरुआत में अच्छा रिस्पांस मिलने के बाद इसके संस्थापकों ने भारत के अन्य शहरों में भी विस्तार करने की सोच बना ले थी.

रिपोर्ट के मुताबिक swiggy भारत के 100 से अधिक शहरों में अपनी सेवा को दे रही हैं. और इन शहरों में 1.4 लाख रेस्टारेंट और 2 लाख से भी अधिक डिलीवरी बॉय जुड़े हैं. और लगातार यह आगे बढ़ती जा रही हैं. swiggy ने विदेशों तक अपना पैर पसार लिया हैं. और दुनिया के बड़े शहरों में अपनी सर्विस देने की सोच रही हैं.

swiggy की कमाई कैसे होती हैं?

swiggy एक लोजिस्टिक्स कंपनी की तरहा कमाई करती हैं. swiggy अपनी कमाई ग्राहक और रेस्टारेंट दोनों से करती हैं. यह होटल  या रेस्टारेंट से अपने कमीशन को लेती हैं, तो वहीं ग्राहकों से होम डिलीवरी चार्ज वसूल करती हैं. विज्ञापनों के द्वारा भी यह अच्छी खासी आमदनी करती है.

swiggy के निवेशक

swiggy की अपार सफलता को देखते हुए कई निवेशक भी इसकी ओर आकर्षित होने लगे है और 2015 में इसमें सैफ और एक्सेल की और से 2 मिलियन डॉलर का निवेश किया गया था. साथ ही नॉरवेस्ट वेंचर ने भी निवेश किया. साल 2016 में स्विगी ने अपने इन्वेस्टरों से 15 मिलियन डॉलर की भारी रक्कम हासिल की थी. और इस बार बेसेमर वेंचर और हार्मनी भी इन्वेस्टर के तौर पर स्विगी से जुड़े है.  अभी तक swiggy कंपनी के साथ कई बड़े निवेशक जुड़ चुके हैं. इन निवेशकों से स्विगी को करोड़ों रुपयों का फंड मिल चूका हैं. जो की कंपनी ने अपनी सर्विसेज को और बेहतर बनाने में खर्च किया हैं.

swiggy को मिले अवार्ड्स

1) swiggy को The Economics Times Startup Award 2017 में ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी में एक बेहतरीन स्टार्टअप के लिए पहला स्थान मिला था.

2) Swiggy को वर्ष 2017 में इंडिया फोर्ब्स अंडर 30 मैगजीन में भी स्थान मिल चुका है.

तो आपको swiggy in hindi लेख पसंद आया होगा. और आपको असफलता से हार न मानते हुए, कुछ नया करने की प्रेरणा जरुर मिली होगी. इस लेख को लेकर आपकी राय कमेंट सेक्शन में जरुर से शेयर करे.

 

About Author

Similar Posts

Leave a Reply

%d bloggers like this: